Hindi Calendar

श्री श्रीगुरु गौरांगौ जयत:

(हरिभक्तिविलास, सूर्य-सिद्धान्त गणना एवं पूर्वांचल-पश्चिमांचल गणना पर आधारित)

व्रत उत्सव निर्णय पत्रम् ( भारतीय समयानुसार )
सन् 2021-22 विक्रमसंवत् 2077-2078
विष्णु – 535 (30 दिन)

1

29 मार्च

सोमवार

पूर्वाह्न (सुबह)9.41 से पहले पारण। श्रीश्रीगौर जयन्ती व्रत उपवास का पारण। श्रीश्रीजगन्नाथ मिश्र जी का आनन्दोत्सव।

3

31  मार्च

बुधवार

कुमारहट्ट में श्रील ईश्वरपुरीपाद जी के श्रीपाट में श्रीमन् महाप्रभु जी का आगमन-उत्सव।

5

2 अप्रैल

शुक्रवार

श्रीश्रीकृष्ण की पंचम दोलयात्रा। चम्पकहट्ट में उत्सव। श्रीश्रील प्रभुपाद –अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति शरण शान्त गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

8

5 अप्रैल

सोमवार

श्रील श्रीवास पण्डित जी का आविर्भाव।

11

8 अप्रैल

गुरुवार

बंगाल, आसाम आदि पूर्व अंचल में आज पापमोचनी एकादशीउपवास है। उत्तर एवं पश्चिम अंचल में आज पक्षवर्द्धिणी महाद्वादशी व्रत है। श्रील गोविन्द घोष ठाकुर का तिरोभाव। वराह नगर में श्रीचैतन्य महाप्रभु जी का शुभ-विजय स्मरण उत्सव। (द्वादशी-गुरुवार भोर 04:24 से शुक्रवार भोर 04.21 तक; तुलसी चयन निषेध।)

12

9 अप्रैल

शुक्रवार

पूर्वाह्न (सुबह) 09.35 से पहले पारण।
– एकादशी-व्रत पारण मन्त्र
तव प्रसाद-स्वीकारात् कृतं यत् पारणं मया।
व्रतेनानेन सन्तुष्टः स्वस्तिं भक्तिं प्रयच्छ मे॥

15

12 अप्रैल

सोमवार

अमावस्या। आकाइहाट श्रीश्रील कृष्णदास ठाकुर का तिरोभाव।

16

13 अप्रैल

मंगलवार

विक्रम सम्वत् 2078 चान्द्रवर्ष आरम्भ।

17

14  अप्रैल

बुधवार

श्रीकेशवव्रत आरम्भ। (श्रीतुलसी जी में जलधारा प्रदान)

20

17 अप्रैल

शनिवार

श्रीश्रील रामानुजाचार्य जी का आविर्भाव। श्रीश्रील प्रभुपाद – अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति ह्रदय वन गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

22

19 अप्रैल

सोमवार

श्रीश्रील प्रभुपाद – अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति विलास तीर्थ गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

24

21 अप्रैल

बुधवार

श्रीरामनवमी व्रतोपवास। श्रीराम चन्द्र जी का प्राकट्य। श्रीश्रील प्रभुपाद – अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति सौध आश्रम गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव। त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति वल्लभ तीर्थ गोस्वामी महाराज जी की 97वीं वार्षिक आविर्भाव तिथि पूजा।

25

22 अप्रैल

गुरुवार

पूर्वाह्ण (सुबह) 9.29 से पहले पारण।

26

23 अप्रैल

शुक्रवार

कामदा एकादशी-उपवास। (द्वादशी-शुक्रवार सायं 5.24 से शनिवार दोपहर 3.54 तक; तुलसी चयन निषेध)।

27

24 अप्रैल

शनिवार

पूर्वाह्न 9.28 से पहले पारण। श्रीकृष्णदमनकारोपण-उत्सव।

30

27 अप्रैल

मंगलवार

पूर्णिमा। श्रीश्रीकृष्ण जी की बसन्त रास। श्रीश्रीबलदेव जी की रासयात्रा। श्रीश्रील वंशीवदनानन्द ठाकुर जी एवं श्रीश्रील श्यामानन्द प्रभु जी का आविर्भाव। श्रीश्रील प्रभुपाद – अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति विलास भारती गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।
मधुसूदन -29 दिन

4

1  मई

शनिवार

श्रीकृष्णदास बाबाजी महाराज का तिरोभाव। (नन्दगांव में मूल समाधि)

5

2  मई

रविवार

श्रीश्रील प्रभुपाद – पार्षद त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति कुमुद सन्त गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

6

3  मई

सोमवार

श्रील अभिराम ठाकुर जी का तिरोभाव।

8

5  मई

बुधवार

त्रिदण्डिस्वामी श्रीश्रीमद् भक्ति वल्लभ तीर्थ गोस्वामी महाराज जी का चतुर्थ वार्षिक तिरोभाव उत्सव।

9

6  मई

गुरुवार

श्रीश्रील वृन्दावन दास ठाकुर जी का तिरोभाव।

10

7  मई

शुक्रवार

वरूथिनी एकादशी-उपवास। (द्वादशी- शुक्रवार सांय 05:34 से शनिवार  सांय 06:30 बजे तक; तुलसी चयन निषेध)।

11

8 मई

शनिवार

पूर्वाह्न (सुबह) 9.24 से पहले पारण।

14

11 मई

मंगलवार

वैशाख अमावस्या। श्रीश्रील गदाधर पण्डित प्रभु जी का आविर्भाव। श्रीश्रील शुकदेव गोस्वामी जी का आविर्भाव।

15

12 मई

बुधवार

श्रीश्रील प्रभुपाद –अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्त्यालोक परमहंसगोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

16

13 मई

गुरुवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति विचार यायावर गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

18

15 मई
(अक्षय-तृतीया 14 मई को अहोरात्र होने के कारण 15  मई को पालन की जायेगी।)

शनिवार

अक्षय-तृतीया। श्रीश्रीजगन्नाथ देव जी की 21 दिवस-व्यापी चन्दन यात्रा आरम्भ। चार धाम के अन्तर्गत श्रीबद्रीनाथ जी के द्वार उद्बोधन।  श्रीश्रील प्रभुपाद – अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति सौध आश्रम गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव। श्रीश्री गौड़ीय वेदान्त समिति का 81वां स्थापना दिवस महोत्सव। श्रीश्री केशव व्रत समाप्त।

20

17 मई

सोमवार

श्रीपाद शंकराचार्य जी का आविर्भाव। श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति विलास गभस्तिनेमि गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

22

19 मई

बुधवार

जन्हु-सप्तमी। श्रीश्रीजाह्नवी पूजा।

24

21 मई

शुक्रवार

श्री नित्यानन्द-शक्ति-श्रीजाह्नवा देवी एवं श्रीराम-शक्ति श्रीसीता देवी का आविर्भाव। श्रीमधु पण्डित का तिरोभाव।

26

23 मई

रविवार

मोहिनी एकादशी-उपवास। (एकादशी बिद्धा हेतु।)
(द्वादशी- रविवार भोर 02:31 से रात्रि 12:24 बजे तक; तुलसी चयन निषेध)।

27

24 मई

सोमवार

पूर्वाह्न सुबह 09:22 से पहले पारण।

28

25 मई

मंगलवार

श्रीश्रीनृसिंह-चतुर्दशी व्रत उपवास।

29

26 मई
पूर्णग्रास चन्द्र ग्रहण। भारत में दृश्य। दोपहर 3:15  से सायं 6 :23 तक।

बुधवार

पूर्वाह्न सुबह 9.21 से पहले पारण। श्रीकृष्ण का फूलदोल और सलिल विहार  (श्रीरामकृष्णदेव एवं मदन मोहन जी का नरेन्द्र सरोवर, श्रीजगन्नाथ पुरी में नौका विहार)। श्रीश्रीराधा रमन जी की प्राकट्य तिथि। श्रील परमेश्वरी दास ठाकुर का तिरोभाव। श्रील श्रीनिवास आचार्य का आविर्भाव। बुद्ध पूर्णिमा।   
त्रिविक्रम – 29 दिन

1

27  मई

गुरुवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीश्रीमद् भक्ति सारंग गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

2

28  मई

शुक्रवार

कृष्ण द्वितिया श्रीदेवऋषि नारद जयन्ती ।

3

29  मई

शनिवार

आसाम प्रदेश के गौड़ीय वैष्णवाचार्य श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित श्रील निमानन्द सेवातीर्थ प्रभु का आविर्भाव।

5

31  मई

सोमवार

श्रीगौर पार्षद श्रीराय रामानन्द प्रभु का तिरोभाव। 

11

6  जून

रविवार

अपरा एकादशी-उपवास। (द्वादशी-रविवार सुबह 07 :53 से सोमवार  सुबह 09 :35  तक; तुलसी चयन निषेध)।

12

7  जून

सोमवार

पूर्वाह्न सुबह 9.23 से पहले पारण। श्रीश्रील वृन्दावन दास ठाकुर जी का आविर्भाव।

15

10  जून

गुरुवार

अमावस्या।

24

19  जून

शनिवार

श्रील बलदेव विद्याभूषण जी का तिरोभाव।

25

20  जून

रविवार

श्रीश्रीगंगा देवी का आविर्भाव। श्रीश्रीगंगापूजा। दशहरा। श्रीश्रीगंगा माता गोस्वामिनी जी का तिरोभाव।

26

21  जून

सोमवार

पाण्डवा निर्जला एकादशी-उपवास। (द्वादशी- सोमवार प्रातः 10:05   से मंगलवार प्रातः  07:39  तक; तुलसी चयन निषेध)।

27

22  जून

मंगलवार

पूर्वाह्न सुबह 07:39 से पहले पारण। क्यूंकि द्वादशी 7:39 तक है। दोपहर 02:07 के बाद अम्बुवाची आरम्भ। (इस समय से अम्बुवाची-समाप्ति तक भूमि की खुदाई नहीं करनी चाहिए) ।

28

23  जून

बुधवार

श्रीपाट पानिहाटि में श्रील रघुनाथ दास गोस्वामी जी द्वारा प्रदत्त दही- चिड़वा महोत्सव।

29

24  जून

गुरुवार

श्रीश्रीजगन्नाथदेव जी की स्नान यात्रा। पूर्णिमा। श्रील मुकुन्द दत्त (दाँइहाट) एवं श्रील श्रीधर पण्डित ठाकुर का तिरोभाव।  
वामन – 30 दिन

1

25 जून

शुक्रवार

श्रीश्रील श्यामानन्द प्रभु जी का तिरोभाव। शनिवार भोर 02:30 बजे के बाद अम्बुवाची समाप्त।

5

29 जून

मंगलवार

श्रीश्रील वक्रेश्वर पण्डित जी का आविर्भाव।

8

2 जुलाई

शुक्रवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित श्री मथुरानाथ दास बाबा जी महाराज जी का तिरोभाव

10

4 जुलाई

रविवार

श्रीवास पण्डित जी का तिरोभाव।

12

6 जुलाई

मंगलवार

पक्षवर्द्धिनी महाद्वादशी-उपवास। (द्वादशी- सोमवार रात्रि 11:03 से मंगलवार (अर्द्धरात्रि पश्चात)  01:04 तक; तुलसी चयन निषेध)।

13

7  जुलाई

बुधवार

पूर्वाह्न सुबह 09:28 से पहले पारण।

16

10  जुलाई

शनिवार

अमावस्या। श्रीश्रील गदाधर पण्डित गोस्वामी एवं श्रीश्रील सच्चिदानन्द भक्तिविनोद ठाकुर जी का तिरोभाव।

17

11  जुलाई

रविवार

श्रीश्रीजगन्नाथ पुरी धाम में गुण्डिचा मन्दिर मार्जन

18

12  जुलाई

सोमवार

श्रीश्री जगन्नाथदेव जी की रथयात्रा। श्रीश्रील स्वरूप दामोदर गोस्वामी जी एवं श्रीश्रील शिवानन्द सेन जी का तिरोभाव।

22

16  जुलाई

शुक्रवार

हेरा-पंचमी (उत्कल मत अनुसार)। श्रीश्रीलक्ष्मी-विजय उत्सव। श्रीवक्रेश्वर पण्डित का तिरोभाव।

25

19  जुलाई

सोमवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति कमल मधुसूदन गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

26

20  जुलाई

मंगलवार

श्रीश्रीजगन्नाथ देव जी की पुनर्यात्रा। श्रीश्रीरथयात्रा महोत्सव समाप्त।
शयन एकादशी-उपवास। एकादशी से शुरू होने वाला चतुर्मास व्रत आरम्भ। (द्वादशी- मंगलवार सायं 04:58 से बुधवार दोपहर 02:31 तक; तुलसी चयन निषेध)।

27

21  जुलाई

बुधवार

पूर्वाह्न सुबह 09:31 से पहले पारण। द्वादशी आरम्भ पक्ष से चातुर्मास्य व्रत आरम्भ।

30

24  जुलाई

शनिवार

गुरु पूर्णिमा। श्रील सनातन गोस्वामी प्रभु का तिरोभाव। श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित श्री मथुरानाथ दास बाबा जी महाराज जी का आविर्भाव। पूर्णिमा आरम्भ पक्ष से चातुर्मास्य व्रत आरम्भ।
श्रीधर – 29 दिन

1

25  जुलाई

रविवार

श्रीगौर पार्षद श्रील प्रबोधानन्द सरस्वतीपाद का तिरोभाव।

2

26  जुलाई

सोमवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति हृदय वन महाराज जी एवं त्रिदण्डीस्वामी श्रीमद् भक्ति सौरभ भक्तिसार गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव। 

4

28  जुलाई

बुधवार

श्रीश्रीलगोपाल भट्ट गोस्वामी प्रभु जी का तिरोभाव।

8

1  अगस्त

रविवार

श्रीगौर-पार्षद श्रील लोकनाथ गोस्वामी प्रभु का तिरोभाव।

11

4  अगस्त

बुधवार

कामिका एकादशी-उपवास। (द्वादशी- बुधवार दोपहर 02:32 से गुरवार सायं 04:16    तक; तुलसी चयन निषेध)।

12

5  अगस्त

गुरुवार

पूर्वाह्न सुबह 09:33 से पहले पारण।

15

8  अगस्त

रविवार

अमावस्या। श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पितत्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति रक्षक श्रीधर गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

19

12  अगस्त

गुरुवार

श्रीश्रील रघुनन्दन ठाकुर जी तथा श्रील वंशीदास बाबाजी महाराज का तिरोभाव।

25

18  अगस्त

बुधवार

श्रीश्रीराधा गोविन्द जी की झूलन यात्रा आरम्भ। चतुर्मास व्रत का दूसरा महीना आरम्भ। पवित्रारोपणी एकादशी उपवास। (द्वादशी- बुधवार रात्रि 12:09 से गुरवार रात्रि 10:00 बजे तक; तुलसी चयन निषेध)।

26

19  अगस्त

गुरुवार

प्रातः 05:37 से 09:33 के बीच में पारण। श्रीकृष्ण का पावित्रारोपण-उत्सव। श्रील रूप गोस्वामी जी, श्रीगौरीदास पण्डित गोस्वामी जी एवं श्रील गोविन्द दास पण्डित गोस्वामी का तिरोभाव।

29

22  अगस्त

रविवार

श्रीश्रीबलदेव जी का आविर्भाव उपवास। पूर्णिमा। श्रीश्रीराधागोविन्द जी की झूलनयात्रा समाप्त। रक्षा बन्धन।
हृषिकेश- 29 दिन

1

23  अगस्त

सोमवार

पूर्वाह्न सुबह 9.33 से पहले पारण।

8

30  अगस्त

सोमवार

श्रीश्रीकृष्ण-जन्माष्टमी व्रत- उपवास। श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पितत्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति विकास हृषीकेश गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

9

31  अगस्त

मंगलवार

श्रीनन्दोत्सव। सूर्योदय के बाद और सुबह 9.32 से पहले पारण।  श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामीश्रीमद् भक्ति वेदान्त स्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

12

3 सितम्बर

शुक्रवार

गुरुवार को एकादशी अहोरात्र होने पर भी बिद्धा थी इसलिए उन्मिलनी महाद्वादशी का योग घटित नहीं हुआ। बंगाल, आसाम आदि पूर्वांचल में आज अन्नदा एकादशी-उपवास है; उत्तर एवं पश्चिम अंचल में एकादशी शुद्ध और द्वादशी अहोरात्र होने के कारण आज व्यंजलि महाद्वादशी उपवास है।
(कुछ पंजिकाओं में श्रीकृष्ण-जन्माष्टमी व्रत का पारण प्रात: 9.24 के बाद लिखा है। हरि भक्तिविलास ग्रन्थ में श्रीसनातन गोस्वामी जी द्वारा वर्णित गणना- पद्धति के अनुसार यह ठीक नहीं है। इसलिए भक्तगण संशय रहित होकर सूर्योदय के बाद और प्रात: 9.32 से पहले पारण कर सकते हैं। विस्तृत जानकारी के लिए श्रीदेवानन्द गौड़ीय मठ नवद्वीप में सम्पर्क करें।)

13

4 सितम्बर

शनिवार

प्रातः 06:39 से से पहले पारण।

16

7 सितम्बर

मंगलवार

अमावस्या।

19

10 सितम्बर

शुक्रवार

श्रीअद्वैत-पत्नी-श्रीसीता देवी जी का आविर्भाव। 

22

13 सितम्बर

सोमवार

श्रीललिता सप्तमी। 

23

14 सितम्बर

मंगलवार

श्रीश्रीराधाष्टमी व्रत। (आविर्भाव दोपहर 12 बजे)।

26

17  सितम्बर

शुक्रवार

पार्श्वैकादशी उपवास। चतुर्मास व्रत का तीसरा महीना आरम्भ। कल भगवान् श्रीवामनदेव जी का आविर्भाव, इस उपलक्ष्य में आज ही उनका उपवास है। विष्णुश्रृंख्ल योग। सायंकाल के समय भगवान् श्रीहरि का करवट बदलना महोत्सव।
(द्वादशी- शुकवार सुबह 08:35 से शनिवार सुबह 07:03 बजे तक; तुलसी चयन निषेध)।

27

18  सितम्बर

शनिवार

श्रीवामन-द्वादशी। श्रीश्रील जीव गोस्वामी प्रभु का आविर्भाव। श्रीवामनदेव के अर्चन के बाद सुबह 7.03 से पहले पारण क्योंकि द्वादशी सुबह 07.03 तक है।

28

19  सितम्बर

रविवार

 ॐ विष्णुपादश्रीश्रील सच्चिदानन्द भक्तिविनोद ठाकुर जी का आविर्भाव।

29

20  सितम्बर

सोमवार

पूर्णिमा। श्रीविश्वरूप महोत्सव। नामाचार्य श्रील हरिदास ठाकुर जी का तिरोभाव। (चतुर्दशी बिद्धा हेतु)। 
पद्मनाभ – 30 दिन

3

23 सितम्बर

गुरुवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति विलास तीर्थ गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

7

27 सितम्बर

सोमवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति श्रीरूप सिद्धान्ती गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

12

2 अक्टूबर

शनिवार

इन्दिरा एकादशी-उपवास। (द्वादशी- शनिवार रात्रि 08:01 से रविवार रात्रि 08:01 बजे तक; तुलसी चयन निषेध)।

13

3 अक्टूबर

रविवार

पूर्वाह्न सुबह 09:28 से पहले पारण। 

16

6 अक्टूबर

बुधवार

अमावस्या।

20

10 अक्टूबर

रविवार

श्रीश्रील प्रभुपाद-पार्षद त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति प्रमोद पुरी गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

25

15 अक्तूबर

शुक्रवार

विजयदशमी। श्रीरामचन्द्र जी का विजयोत्सव। श्रील मध्वाचार्य जी का आविर्भाव। श्रीश्रील प्रभुपाद – अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति स्वरूप दामोदर गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।  

26

16 अक्टूबर

शनिवार

पापाकुंशा एकादशी-उपवास। चतुर्मास व्रत का चौथा महीना आरम्भ।(द्वादशी- शनिवार रात्रि 07:15 से रविवार रात्रि सायं 06:35 बजे तक; तुलसी चयन निषेध)। एकादशी आरम्भ पक्ष से कार्तिकव्रत, ऊर्ज्जाव्रत व नियम सेवा आरम्भ।

27

17 अक्टूबर

रविवार

पूर्वाह्न सुबह 9.28 से पहले पारण।  श्रील रघुनाथ दास गोस्वामी, श्रील रघुनाथ भट्ट गोस्वामी एवं श्रील कृष्णदास कविराज गोस्वामी जी का तिरोभाव। द्वादशी आरम्भ पक्ष से कार्तिक व्रत, दामोदरव्रत, ऊर्ज्जाव्रत व नियमसेवा आरम्भ।

28

18 अक्टूबर

सोमवार

आज अर्थात् 31 आश्विन (संक्रान्ति) से 30 कार्तिक (संक्रान्ति) तक एक मास व्यापी आकाश दीपदान आरम्भ।
दीपदान- मन्त्र
दामोदराय नभसि तुलायां लोलया सह।
प्रदीपन्ते प्रयच्छामि नमोऽनन्ताय वेधसे।। – (ह:भ:वि:)

30

20 अक्टूबर

बुधवार

पूर्णिमा। श्रीश्रीराधाकृष्ण जी का शारदीय रासयात्रा। पूर्णिमा आरम्भ पक्ष से कार्तिक व्रत, दामोदर व्रत, ऊर्ज्जाव्रत व नियमसेवा आरम्भ। श्रीमुरारी गुप्त जी का तिरोभाव। श्रीगौडीय वेदान्त समिति के प्रतिष्ठाता- नियामक श्रील प्रभुपाद –अंतरंग आचार्य – भास्कर जगद्गुरु ॐ विष्णुपाद 108 श्री श्रीमद् भक्ति प्रज्ञान केशव गोस्वामी महाराज जी का 53वां वार्षिक विरह-महोत्सव।
दामोदर- 29 दिन

1

21 अक्टूबर

गुरुवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति गौरव वैखानस गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव। 

3

23 अक्टूबर

शनिवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति श्रीरूप पुरी गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

5

25 अक्टूबर

सोमवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति कुशल नारसिंह गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

7

27  अक्टूबर

बुधवार

प्रथम कार्तिक। श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति विचार यायावर गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

8

28  अक्टूबर

गुरुवार

श्रीश्रील नरोत्तम ठाकुर जी का तिरोभाव।

9

29  अक्टूबर

शुक्रवार

श्रीराधाकुण्ड की प्राकट्य तिथि। बहुलाष्टमी। श्रीश्रील गदाधर दास ठाकुर जी का तिरोभाव।

10

30  अक्टूबर

शनिवार

श्रील वीरचन्द्र प्रभु जी का आविर्भाव। श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति रक्षक श्रीधर गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव एवं पूज्यपाद सखीचरण दास बाबाजी महाराज जी का तिरोभाव। 

12

1 नवम्बर

सोमवार

रमा एकादशी-उपवास। (द्वादशी- सोमवार सुबह 09:24 से मंगलवार सुबह 08:27 तक; तुलसी चयन निषेध)।

13

2  नवम्बर

मंगलवार

पूर्वाह्न सुबह 08:27 से पहले पारण क्यूंकि द्वादशी सुबह 08:27 तक है। श्रीगौरांग महाप्रभु जी का श्रीपाट पाणिहाटी में शुभ विजय। श्रीखण्डवासी श्रील नरहरि सरकार ठाकुर का तिरोभाव।

14

3  नवम्बर

बुधवार

यम-दीपदान। दीपदान मन्त्र
(हरिभक्तिविलास)
कार्त्तिके कृष्णपक्षे तु त्रयोदश्यां निशामुखे।
यमदीपं बहिर्दद्दादपमृत्युर्विनश्यति।।
मृत्युना पाशदण्डाभ्यां काल: श्यामलया सह।
त्रयोदश्यां दीपदानात् सूर्यजः प्रियतामिति।।
श्रीविष्णु मन्दिर में 14 दीपदान।

15

4  नवम्बर

गुरुवार

अमावस्या। दीपान्विता, दिपावली। श्रीविष्णु मन्दिर में दीपदान।

16

5  नवम्बर

शुक्रवार

गो-पूजा एवं श्रीश्रीगोवर्धन पूजा, अन्नकूट महोत्सव। श्रीबलि दैत्यराज पूजा।
श्रीकृष्णदासवर्योऽयं श्रीगोवर्धन- भूधरः।
शुक्लप्रतिपदि प्रात: कार्तिकेऽच्चोऽत्र वैष्णवैः।।
प्रातर्गोवर्धन पूज्य रात्रौ जागरणं चरेत्। – (ह:भ:वि:)
श्रील सनातन गोस्वामी जी की टीका,-“श्रीगोवर्धन पूजा च शुक्लप्रतिपत् – प्रभाते वैष्णवैरवश्यं कार्या।”
श्रील रसिकानन्द प्रभु का आविर्भाव। श्रीश्रील प्रभुपाद – अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति कुसुम श्रमण गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

17

6  नवम्बर

शनिवार

श्रीगौरपार्षद श्रील वासुदेव घोष ठाकुर का तिरोभाव। श्रीश्रील प्रभुपाद – अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति सर्वस्व गिरी गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव। त्रिदण्डि स्वामी श्रीमद् भक्तिवेदान्त पर्यटक गोस्वामी महाराज का आविर्भाव। श्रील रसिकानन्द प्रभुजी का आविर्भाव। श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति कुसुम श्रमण गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।     

18

7  नवम्बर

रविवार

श्रीगौड़ीय वेदान्त समिति के प्राक्तन सभापति– आचार्य श्रील गुरुदेव नित्यलीलाप्रविष्ट ॐ विष्णुपाद अष्टोत्तरशतश्री श्रीमद् भक्तिवेदान्त वामन गोस्वामी महाराज जी का 17वां वार्षिक वार्षिक विरह-महोत्सव। त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति वेदान्त त्रिविक्रम गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

19

8 नवम्बर

सोमवार

श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति वेदान्त स्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

20

 9  नवम्बर

मंगलवार

श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति श्रीरूप सिद्धान्ती गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

23

12 नवम्बर

शुक्रवार

श्रीगोपाष्टमी एवं गोष्ठाष्टमी। गो-पूजा एवं गो-ग्रास दान। श्रील गदाधर दास गोस्वामी, श्रील धनन्जय पण्डित और श्रील श्रीनिवास आचार्य प्रभु का तिरोभाव।  

26

15 नवम्बर

सोमवार

उत्थान एकादशी उपवास। (द्वादशी- सोमवार सुबह 08:50 से मंगलवार सुबह 09:14 बजे तक; तुलसी चयन निषेध)। परमहंस श्रीश्रील गौरकिशोर दास बाबाजी महाराज जी का तिरोभाव। श्रीचैतन्य गौड़ीय मठ प्रतिष्ठान के प्रतिष्ठाता ॐ श्रीमद भक्ति दयित माधव गोस्वामी महाराज विष्णुपाद जी की 117वीं आविर्भाव तिथि पूजा। एकादशी आरम्भ पक्ष से कार्तिक व्रत, दामोदर व्रत, ऊर्ज्जाव्रत, चातुर्मास्य व्रत और नियम सेवा समाप्त।

27

16  नवम्बर

मंगलवार

पूर्वाह्न सुबह 09:14 से पहले पारण क्यूंकि द्वादशी सुबह 09:14 तक है। श्रीहरिउत्थान। द्वादशी आरम्भ पक्ष से कार्तिक व्रत, दामोदर व्रत, ऊर्ज्जाव्रत, चातुर्मास्य व्रत और नियम सेवा समाप्त। 

28

17  नवम्बर

बुधवार

30 कार्तिक। कार्तिक मास व्यापी आकाश-दीपदान समाप्त।

29

18  नवम्बर

गुरुवार

वैकुण्ठ चतुर्दशी। श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति प्रमोद पुरी गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

30

19  नवम्बर
(आंशिक ग्रास चंद्र ग्रहण। भारत में दृश्य। दोपहर 12.48 से सायं 4.17)

शुक्रवार

पूर्णिमा। श्रीश्रीराधाकृष्ण की हैमन्तिक रासयात्रा। श्री निम्बार्क आचार्य (कुमार सम्प्रदाय) का आविर्भाव। श्रीश्रील भूगर्भ गोस्वामी एवं श्रीश्रील कशीश्वर पण्डित जी का तिरोभाव। पूर्णिमा आरम्भ पक्ष से कार्तिक व्रत, दामोदरव्रत, ऊर्ज्जव्रत, चातुर्मास्य व नियम सेवा समाप्त। श्रीचैतन्य महाप्रभु जी की श्रीवृन्दावन आगमन जयन्ति। श्रीमती तुलसी महारानी जी की प्राकट्य तिथि।
भगवान् विष्णु का मत्स्य अवतार प्राकट्य। आंशिक ग्रास चंद्र ग्रहण। भारत में दृश्य। दोपहर 12.48 से सायं 4.17।
केशव- 30 दिन

1

20 नवम्बर

शनिवार

श्रीकात्यायनी व्रत आरम्भ। श्रीश्रील सुन्दरानन्द ठाकुर जी का तिरोभाव।

5

24  नवम्बर

बुधवार

श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति विकास हृषीकेश गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव। आकाश दीपदान समाप्त।

7

26  नवम्बर

शुक्रवार

श्रीश्रील प्रभुपाद –अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति सम्बन्ध तुर्याश्रमी गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

11

30  नवम्बर

मंगलवार

उत्पन्ना एकादशी-उपवास। (द्वादशी- मंगलवार रात्रि  09:53 से 09:11 बुधवार रात्रि तक; तुलसी चयन निषेध)। श्रील नरहरि सरकार ठाकुर का तिरोभाव।

12

1  दिसम्बर

बुधवार

पूर्वाह्न सुबह 09:39 से पहले पारण। श्रील काला कृष्णदास जी (बड़गाछि) का तिरोभाव।

13

2  दिसम्बर

गुरुवार

श्री गौर पार्षद श्रीश्रील सारंग ठाकुर जी का तिरोभाव।

15

4  दिसम्बर

शनिवार

अमावस्या। श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित श्रीजगबन्धु भक्ति रञ्जन प्रभु का तिरोभाव।

18

7  दिसम्बर

मंगलवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति जीवन जनार्दन गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

20

9  दिसम्बर

गुरुवार

 पुरी में श्रीश्रीजगन्नाथदेव की उड़न-षष्ठी। श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति स्वरूप दामोदर गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

22

11  दिसम्बर

शनिवार

श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति जीवन जनार्दन गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव। सूर्यकुण्ड-वासी श्रीमधुसूदनदास बाबाजी महाराज जी का तिरोभाव। 

23

12  दिसम्बर

रविवार

श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति कमल मधुसूदन गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

25

14  दिसम्बर
आपने किस दिन व्रत करना है, यह जानने के लिए नीचे पढ़ें।

मंगलवार

बंगाल, आसाम आदि पूर्व अंचल में आज मोक्षदा एकादशी-उपवास है। (द्वादशी–बुधवार भोर 01:32 से गुरुवार भोर 02:59 तक; तुलसी चयन निषेध)। गीता जयन्ती। श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति कुसुम श्रमण गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।
(18 दिसम्बर को सूर्योदय का समय प्रात: 06.53 से पहले है वहाँ मंगलवार, 14 दिसम्बर के दिन मोक्षदा एकादशी व्रत किया जायेगा। तथा जिन स्थानों में 18 दिसम्बर को सूर्योदय का समय प्रात: 06.53 या उसके बाद है वहाँ बुधवार, 15 दिसम्बर के दिन पक्षवर्द्धिनी महाद्वादशी व्रत किया जायेगा।)

26

15  दिसम्बर

बुधवार

बंगाल, आसाम आदि पूर्वांचल में सुबह 07.54 से 09.47 के मध्य पारण। उत्तर एवं पश्चिम अंचल में पूर्णिमा अहोरात्र होने के कारण आज पक्षवर्द्धिणी महाद्वादशी व्रत है। – (ह.भ.वि. 13 /270)।

27

16  दिसम्बर

गुरुवार

सुबह 07:47 से पहले पारण।

30

19  दिसम्बर

रविवार

पूर्णिमा। श्रीश्रील सच्चिदानन्द भक्तिविनोद ठाकुर- अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति प्रदीप तीर्थ गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।
नारायण – 29 दिन

4

23 दिसम्बर

गुरुवार

जगद्गुरु परमहंसस्वामी वैष्णवाचार्य कुल-शिरोमणि ॐ विष्णुपाद 108श्री श्रीमद् भक्ति सिद्धान्त सरस्वती गोस्वामी प्रभुपाद जी का 84वां वार्षिक विरह महोत्सव।

9

28  दिसम्बर
100 वीं व्यास पूजा

मंगलवार

श्रीगौड़ीय वेदान्त समिति के पूर्व सभापति – आचार्य नित्यलीलाप्रविष्ट ॐ विष्णुपाद 108 श्री श्रीमद् भक्ति वेदान्त वामन गोस्वामी महाराज जी की 100वीं आविर्भाव तिथि-पूजा। श्रीश्रीव्यास पूजा महोत्सव। त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्तिवेदान्त नारायण गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

11

30  दिसम्बर

गुरुवार

सफला एकादशी -उपवास। (द्वादशी- गुरुवार सुबह 09:35 से शुक्रवार सुबह 07:24बजे तक; तुलसी चयन निषेध)। श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्तिप्रकाश अरण्य गोस्वामी महराज जी का तिरोभाव।

12

31  दिसम्बर

शुक्रवार

पूर्वाह्न सुबह 07:24  से पहले पारण। श्रीदेवानन्द पण्डित जी का तिरोभाव। श्रीश्रील प्रभुपादनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति भूदेव श्रौती गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव। श्रीश्रील प्रभुपाद- अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति मयूख भागवत गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

13

1 जनवरी

शनिवार

श्रील महेश पण्डित एवं श्रीउद्धारण दत्त ठाकुर का तिरोभाव।

14

2 जनवरी

रविवार

अमावस्या। श्रीश्रील प्रभुपादनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति सौरभ भक्तिसार गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

15

3  जनवरी

सोमवार

श्रील लोचनदास  ठाकुर जी का आविर्भाव।

17

5  जनवरी

बुधवार

श्रील श्रीजीव गोस्वामी प्रभु एवं श्रील जगदीश पण्डित जी का तिरोभाव।

25

13  जनवरी

गुरुवार

पुत्रदा एकादशी-उपवास। (द्वादशी- गुरुवार  रात्रि 08:37 से   शुक्रवार रात्रि 10:43 तक; तुलसी चयन निषेध)।

26

14  जनवरी

शुक्रवार

पूर्वाह्न सुबह 09 :59 से पहले पारण।  मकर संक्रान्ति गंगा सागर स्नान। सूर्य दक्षिणायन समाप्त। श्रीश्री जगदीश पण्डित जी का आविर्भाव। 

27

15  जनवरी

शनिवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति कुमुद सन्त महाराज जी का तिरोभाव।

29

17  जनवरी

सोमवार

पूर्णिमा। श्रीकृष्ण का पुष्य-अभिषेक।
माधव- 30 दिन

4

21  जनवरी

शुक्रवार

श्रील रामचन्द्र कविराज जी का तिरोभाव। श्रील गोपाल भट्ट गोस्वामी जी का आविर्भाव। श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित श्रीमद् नयनानन्द दास बाबाजी महाराज जी का तिरोभाव।

5

22 जनवरी

शनिवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति सम्बन्ध तुर्याश्रमी गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

6

23  जनवरी

रविवार

श्रीश्रील प्रभुपादानुकम्पित श्रीनरहरि सेवाविग्रह प्रभु का तिरोभाव एवं त्रिदण्डि श्रीमद् भक्ति वैभव पुरी गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव। श्रील जयदेव गोस्वामी जी का तिरोभाव।

9

26  जनवरी

बुधवार

श्रीश्रील लोचनदास ठाकुर जी का तिरोभाव।

11

28  जनवरी

शुक्रवार

षट्तिला एकादशी उपवास। (द्वादशी- शुक्रवार रात्रि 08:27 से शनिवार सायं 06:05 बजे तक; तुलसी चयन निषेध)।

12

29  जनवरी

शनिवार

पूर्वाह्न सुबह 10:01 से पहले पारण । त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति वेदान्त त्रिविक्रम गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

15

1 फरवरी 

मंगलवार

अमावस्या। त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति वेदान्त नारायण गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

16

2 फरवरी 

बुधवार

श्रीश्रील प्रभुपादनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति गौरव वैखानस गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव। 

17

3 फरवरी 

गुरुवार

श्रीश्रील प्रभुपादनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति शरण शान्त गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव। 

20

6 फरवरी 

रविवार

बसंत पंचमी । गौर-शक्ति श्रीविष्णुप्रिया देवी जी का आविर्भाव। सरस्वती पूजा। श्रील पुण्डरीक विद्यानिधि, श्रीलरघुनाथ दास गोस्वामी एवं श्रील रघुनन्दन ठाकुर जी का आविर्भाव। श्रील विश्वनाथ चक्रवर्ती ठाकुर जी का तिरोभाव। श्रीश्रील प्रभुपादनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति विवेक भारती गोस्वामी महाराज जी तथा त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति स्वरूप पर्वत गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव। पूज्यपाद त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति कमल गोविन्द महाराज जी का आविर्भाव।

22

8 फरवरी

मंगलवार

श्रीअद्वैत सप्तमी व्रतोपवास। महाविष्णु अवतार श्रीअद्वैताचार्य जी का आविर्भाव। 

23

9  फरवरी

बुधवार

पूर्वाह्न सुबह 10.01 से पहले पारण।

24

10  फरवरी

गुरुवार

श्रीश्रील मध्वाचार्य जी का तिरोभाव।

25

11  फरवरी

शुक्रवार

श्रीश्रील रामानुजाचार्य जी का तिरोभाव।

26

12  फरवरी

शनिवार

जया (भैमी) एकादशी व्रतोपवास।(द्वादशी- शनिवार  सांय 04:20 से रविवार  सांय 06::23 तक; तुलसी चयन निषेध)। आगामी कल वराह देव आविर्भाव होने क कारण आज ही उनका उपवास है। श्रीश्रील केशव भारती का आविर्भाव।

27

13  फरवरी

रविवार

श्रीवराह द्वादशी श्रीवराहदेव जी का आविर्भाव। श्रीवराहदेव के अर्चन के बाद सुबह 10.00 से पहले पारण

28

14  फरवरी

सोमवार

श्रीनित्यानन्द-त्रयोदशी व्रत। आसाम प्रदेश के गौड़ीय वैष्णव श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित श्रीनिमानन्द सेवातीर्थ प्रभु का तिरोभाव। श्रीश्रील प्रभुपादनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति मयूख भागवत गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

29

15  फरवरी

मंगलवार

पूर्वाह्न सुबह 09:56 से पहले पारण।

30

16  फरवरी

बुधवार

माघी पूर्णिमा। श्रीकृष्ण का मधुरोत्सव। श्रीमन् महाप्रभु की सन्यास ग्रहण लीला। श्रील नरोत्तम ठाकुर का आविर्भाव।
गोविन्द – 30 दिन

3

19  फरवरी

शनिवार

श्रीगौड़ीय वेदान्त समिति के प्रतिष्ठाता-नियामक श्रील प्रभुपाद-अंतरंग आचार्य-भास्कर जगद्गुरु नित्यलीलाप्रविष्ट ॐ विष्णुपाद 108 श्रीश्रीमद् भक्ति प्रज्ञान केशव गोस्वामी महाराज जी की 124वीं वर्ष पूर्ति आविर्भाव तिथि पूजा एवं श्रीव्यास पूजा महोत्स्व। देवानन्द गौड़ीय मठ एवं श्रीगौड़ीय वेदान्त समिति के अन्य शाखा मठों में श्रीश्रीव्यास पूजा महोत्सव आरम्भ।

5

21  फरवरी

सोमवार

श्रील पुरुषोत्तम ठाकुर जी का तिरोभाव। जगद्गुरु परमहंसस्वामी वैष्णवाचार्य-कुलशिरोमणि ॐ विष्णुपाद 108 श्रीश्रीमद् भक्तिसिद्धान्त सरस्वती गोस्वामी प्रभुपाद जीकी 148वीं वर्ष पूर्ति आविर्भाव तिथि-पूजा और श्रीश्री व्यास पूजा महोत्सव समाप्त। श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति भूदेव श्रौती गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।  

6

22  फरवरी

मंगलवार

श्रीश्रील प्रभुपाद-अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति सारंग गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव। 

11

27  फरवरी

रविवार

बंगाल, आसाम आदि पूर्व अंचल में आज त्रिस्पृशा महाद्वादशी-उपवास है। उत्तर एवं पश्चिम अंचल में आज विजया एकादशी व्रत है। (द्वादशी-रविवार प्रात: 06.31 से सोमवार प्रात: 04.21 तक; तुलसी चयन निषेध)

12

28  फरवरी

सोमवार

पूर्वाह्न सुबह 9.55 से पहले पारण।

13

1  मार्च

मंगलवार

श्रीशिव चतुर्दशी व्रत। 

14

2  मार्च

बुधवार

अमावस्या। पूर्वाह्न सुबह 9.54 से पहले पारण।

15

3  मार्च

गुरुवार

श्रील रसिकानन्द प्रभु, वैष्णव सार्वभौम श्रील जगन्नाथदास बाबाजी महाराज एवं श्रीचैतन्य गौड़ीय मठ प्रतिष्ठान के प्रतिष्ठाता श्रीश्रील प्रभुपाद अनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति दयित माधव गोस्वामी महाराज जी का 43वां वार्षिक विरह महोत्सव।

18

6   मार्च

रविवार

श्रील पुरुषोत्तम ठाकुर का आविर्भाव।

19

7  मार्च

सोमवार

श्रीश्रील प्रभुपादनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति विवेक भारती गोस्वामी महाराज जी का आविर्भाव।

21

9  मार्च

बुधवार

श्रीश्रील प्रभुपादनुकम्पित त्रिदण्डिस्वामी श्रीमद् भक्ति वैभव पूरी गोस्वामी महाराज जी का तिरोभाव।

24

12  मार्च

शनिवार

श्रीदेवानन्द गौडीय मठ की 80वीं वार्षिक श्रीनवद्वीप धाम परिक्रमा का संकल्प ग्रहण। श्रीनवद्वीप धाम परिक्रमा आरम्भ।

25

13  मार्च

रविवार

श्रीदेवानन्द गौड़ीय मठ की 80वीं वार्षिक श्रीनवद्वीप धाम परिक्रमा का प्रथम दिवस।

26

14  मार्च

सोमवार

आमलकी एकादशी उपवास। (द्वादशी–सोमवार सुबह 10.43 से मंगलवार दोपहर 12.03 तक; तुलसी चयन निषेध)।

27

15 मार्च

मंगलवार

पूर्वाह्न सुबह 09:48 से पहले पारण। श्रील माधवेन्द्र पुरीपाद एवं श्रीहृदयानन्द गोस्वामी जी का तिरोभाव।

29

17 मार्च

गुरुवार

श्रीदेवानन्द गौड़ीय मठ की 80वीं वार्षिक श्रीनवद्वीप धाम परिक्रमा समाप्त। श्रीगौर-जन्मोत्सव का अधिवास कीर्तन। संध्या में वन्ह्युत्सव।

30

18 मार्च

शुक्रवार

कलियुग पावन अवतारी श्रीश्रीगौरांग महाप्रभु का शुभ आविर्भाव। श्रीगौर पूर्णिमा। श्रीगौर जयन्ती व्रतोपवास।संकीर्तन महोत्सव।श्रीश्रीराधाकृष्ण की दोल-यात्रा।  
श्रीगौरब्द :- 536, विष्णु

1

19 मार्च

शनिवार

पूर्वाह्न सुबह 09:46 से पहले पारण। श्रीश्रीजगन्नाथ मिश्र जी का आन्दोत्सव। श्रीदेवानन्द गौड़ीय
मठ, नवद्वीप में महामहोत्सव। श्रीश्रीजगन्नाथ मिश्र जी का आनन्दोत्सव।