Play/Pause

श्री श्यामानन्द प्रभु

श्री श्यामानन्द प्रभु श्री कृष्ण लीला के द्वादश गोपालों में से एक सुबल सखा के अनुगत के अनुगत पार्षद थे। श्री गौरीदास पंडित श्रीकृष्ण लीला में सुबल सखा थे। गौरीदास पंडित के शिष्य थे हृदयानन्द (हृदयचैतन्य), और हृदयानन्द जी के शिष्य थे श्यामानन्द जी। “यं लोका भुवि कीर्त्तयन्नति हृदयानन्दस्य शिष्यं प्रियं सख्ये श्रीसुबलस्य यं भगवतः … Continue reading श्री श्यामानन्द प्रभु


Read more

श्रील बलदेव विद्याभूषण

श्रील बलदेव विद्याभूषण प्रभु जी के आविर्भाव के समय और स्थान के सम्बन्ध में निश्चित रूप से कुछ नहीं जाना जाता। ऐतिहासिक लोग महापुरुषों के स्थान, समय के निर्धारण के सम्बन्ध में ध्यान दें तो इन सब विषयों का अभाव दूर हो सकता है। श्रील बलदेव विद्याभूषण प्रभु जी के पावन चरित्र के सम्बन्ध में … Continue reading श्रील बलदेव विद्याभूषण


Read more

श्रील महेश पण्डित

“महेश पण्डितः श्रीमन् महाबाहुर्ब्रजे सखा”                                                   (गौ॰ ग॰ दी॰ 129)   ये द्वादश गोपालों में से एक ‘महाबाहुसखा’ नाम के सखा हैं। पहले इनका श्रीपाट जिराट के पूर्व की तरफ मसिपुर … Continue reading श्रील महेश पण्डित


Read more

श्रीउद्धारण दत्त ठाकुर

“महाभागवत श्रेष्ठ दत्त उद्धारण।     सर्वभावे सेवे नित्यानन्देर चरण॥”                                                                        (श्रीचैतन्य चरितामृत)  श्रीउद्धारण दत्त श्रेष्ठ महाभागवत हैं। वे सम्पूर्ण भाव … Continue reading श्रीउद्धारण दत्त ठाकुर


Read more

श्रीकालिया कृष्णदास (काला कृष्णदास)

“प्रसिद्ध कालिया कृष्णदास त्रिभुवने। गौरचरण लभ्य हय याँहार स्मरणे॥” (चै॰भा॰आ॰ 5/740) “काल: श्री कृष्णदास: स यो लवंग: सखा ब्रजे” (गौ॰ग॰दी॰ 132) ये द्वादश गोपालों में से एक श्रीलवंग सखा थे। इनका पीठ स्थान,आकाईहाट ग्राम में था। यह ग्राम वर्द्धमान ज़िले के काटोया थाना और डाकघर के अन्तर्गत नवद्वीप काटोया मार्ग के पीछे की ओर है। … Continue reading श्रीकालिया कृष्णदास (काला कृष्णदास)


Read more

श्रील वंशीदास बाबा जी महाराज

श्रील वंशीदास बाबा जी महाराज श्रील वंशीदास बाबाजी महाराज अवधूत परम हंस वैष्णव थे। पूर्वबंग (अभी बंगलादेश) में मैमन सिंह ज़िले में जामालपुर के पास मजिदपुर ग्राम में बाबाजी आविर्भूत हुये थे। इनके माता पिता जी के परिचय के विषय में कोई जानकारी नहीं है। साप्ताहिक ‘गौड़ीय’ पत्रिकाओं में प्रकाशित बाबा जी महाराज के अलौकिक … Continue reading श्रील वंशीदास बाबा जी महाराज


Read more

श्रील रघुनन्दन ठाकुर

श्रील रघुनन्दन ठाकुर व्यूहस्तृतीय: प्रद्युम्न: प्रियनर्म सखो¿भवत् । चक्रे लीला सहायं यो राधा माधवयोर्व्रजे । श्रीचैतन्याद्वैत तनु: स एव रघुनन्दन: । (गौर. ग. 70) प्रद्युम जी तृतीय व्यूह के हैं। इन्होंने कृष्ण के प्रियनर्म सखा होकर व्रज में श्रीराधामाधव जी की लीला में सहायता की थी। वे प्रद्युम जी ही इस समय श्रीचैतन्य के अभिन्न … Continue reading श्रील रघुनन्दन ठाकुर


Read more

श्री श्रील सच्चिदानन्द भक्ति विनोद ठाकुर

नमो भक्तिविनोदय सच्चिदानन्दनामिने । गौरशक्ति स्वरूपाय रूपानुगवरायते ।। श्री भक्ति विनोद ठाकुर जी का अलौकिक स्वरूप तो उनके कृपापात्र जनों के हृदय में ही प्रकटित हैं । ये श्री राधा जी की प्रधान सखी – ललिता सखी की प्रियतमा, श्री रूप मंजरी जी का अनुगत करने वालियों में श्रेष्ठ हैं । ठाकुर श्री भक्ति विनोद … Continue reading श्री श्रील सच्चिदानन्द भक्ति विनोद ठाकुर


Read more

Video Conference


No Video Conference Scheduled at the Moment!

28 जुलाई रविवार
कामिका एकादशी-उपवास। (द्वादशी-रविवार दोपहर 3.08 से सोमवार दोपहर 2.11 तक; तुलसी चयन निषेध)।

29 जुलाई सोमवार
प्रातः 9.32 से पहले पारण।

11 अगस्त रविवार
श्रीश्रीराधा गोविन्द जी की झूलन यात्रा आरम्भ। पवित्रारोपणी एकादशी उपवास। (द्वादशी –रविवार दोपहर 12.58 से सोमवार दोपहर 1.10 तक; तुलसी चयन निषेध)

12 अगस्त सोमवार
प्रातः 9.32 से पहले पारण। श्रीकृष्ण का पावित्रारोपण-उत्सव। श्रील रूप गोस्वामी जी, श्रीगौरीदास पण्डित गोस्वामी जी एवं श्रील गोविन्द दास पण्डित गोस्वामी का तिरोभाव।

15 अगस्त गुरुवार
श्रीश्रीबलदेव जी का आविर्भाव उपवास। पूर्णिमा। श्रीश्रीराधागोविन्द जी की झूलनयात्रा समाप्त। रक्षा बन्धन।

हृषिकेश- 30 दिन 16 अगस्त शुक्रवार
प्रातः 9.33 से पहले पारण।

  • Events